सनातन धर्म के अध्‍ययन हेतु वेद-- कुरआन पर अ‍ाधारित famous-book-ab-bhi-na-jage-to

जिस पुस्‍तक ने उर्दू जगत में तहलका मचा दिया और लाखों भारतीय मुसलमानों को अपने हिन्‍दू भाईयों एवं सनातन धर्म के प्रति अपने द़ष्टिकोण को बदलने पर मजबूर कर दिया था उसका यह हिन्‍दी रूपान्‍तर है, महान सन्‍त एवं आचार्य मौलाना शम्‍स नवेद उस्‍मानी के ध‍ार्मिक तुलनात्‍मक अध्‍ययन पर आधारति पुस्‍तक के लेखक हैं, धार्मिक तुलनात्‍मक अध्‍ययन के जाने माने लेखक और स्वर्गीय सन्‍त के प्रिय शिष्‍य एस. अब्‍दुल्लाह तारिक, स्वर्गीय मौलाना ही के एक शिष्‍य जावेद अन्‍जुम (प्रवक्‍ता अर्थ शास्त्र) के हाथों पुस्तक के अनुवाद द्वारा यह संभव हो सका है कि अनुवाद में मूल पुस्‍तक के असल भाव का प्रतिबिम्‍ब उतर आए इस्लाम की ज्‍योति में मूल सनातन धर्म के भीतर झांकने का सार्थक प्रयास हिन्‍दी प्रेमियों के लिए प्रस्‍तुत है, More More More



Friday, June 4, 2010

www.cpsglobal.org अगर मौलाना वहीदुददीन ख़ान साहब को आपने अभी तक नहीं देखा, उनसे नहीं मिले हैं तो आप कुछ यादगार पल के अहसास से खुद को महरूम रखे हुए हैं

अगर आप दिल्ली या ग़ाज़ियाबाद रहते हैं और मौलाना वहीदुददीन ख़ान साहब को आपने अभी तक नहीं देखा, उनसे नहीं मिले हैं तो आप कुछ यादगार पल के अहसास खुद को महरूम रखे हुए हैं। बरसों पहले मैं उनसे मिला था लेकिन अब से डेढ़ साल पहले फिर उनसे मिलना नसीब हुआ तो देखा कि उनका लेक्चर रूम हरेक धर्म मत के पढ़े लिखे लोगों से भरा हुआ है। पहले उनका लेक्चर हुआ और फिर उनसे लोगों ने सवाल किये। उनके प्रोग्राम को भाई रजत मल्होत्रा कन्डक्ट कर रहे थे। सारी बातचीत की वीडियो कवरेज की जा रही थी। मैं अब तक जितने भी मौलाना साहिबान से मिला हूं उन सबमें मौलाना वहीदुददीन ख़ान साहब ने आधुनिक तकनीक का सबसे उम्दा इस्तेमाल किया है।
जिस बात को वे अपनी तहक़ीक़ में सच पाते हैं उसे बिना किसी लाग लपेट के कह देते हैं। उनकी इस आदत की वजह से परम्परागत मुस्लिम समाज में उनके बारे में नाराज़गी और बदगुमानी भी पाई जाती है। कुछ माह पहले विश्व पुस्तक मेले में ‘धर्म की बात‘ के स्टाल पर जाना हुआ तो पहले उनसे मुलाक़ात की। उनके पास जाने के बाद आदमी को हिन्दू मुस्लिम सिक्ख ईसाई और दीगर मतानुयायियों के बीच प्यार के अंकुर फूटते हुए महसूस होते हैं।

रविवार को उनकी क्लास में औरत मर्द, हरेक ख़ास ओ आम को आने की इजाज़त है। उनके लेक्चर का इन्टरनेट पर भी लाइव टेलीकास्ट किया जाता है।

समय सुबह 9.00 बजे
Alrisala ke liye ap direct office men Mushataq Ahmad se contact kijye. official umoor se mera talluq nhi h.Time:12-8pm. un ko apna US no. batiye:
+91 9810558483
011-41827083
011-45651771
http://www.alrisala.org/ pr alrisala online dekha ja sakta h.
Tazkirul Quran hindi men online nhi h.
Maulana ke literature ki soft copy keliye Mr Rajat se contact kijye:
info@cpsglobal.org
Jazakallah!
Mohammad Zakwan Nadwi
CPS International
(Centre For Peace & Spirituality)
1, Nizamuddin West Market
New Delhi-11 00 I3
India
Order Free Quran, Click:
www.cpsglobal.org/content/order-free-quran

20 comments:

MLA said...

Jankari ke liye bahut-bahut shukriya Anwar Sahab.

lokesh said...

Good job.

Talib Rex said...

सत्य की खोज मौलाना वहीदुद्दीन साहब की छोटी मगर अछि किताब है . हमने तो पढ़ ली अब आप सब भी पढ़ लें.

Talib Rex said...

सत्य की खोज मौलाना वहीदुद्दीन साहब की छोटी मगर अच्छी किताब है . हमने तो पढ़ ली अब आप सब भी पढ़ लें. आज कल लोगों पर बड़ी किताबों का टाइम भी नहीं है .

Anonymous said...

आज की पोस्ट ब्लॉग के title से हटी हुई है मगर मौलाना जी तो अटल बिहारी जी के ख़ास आदमी हैं ! इसी लिए मुस्लिम समाज उनसे नाराज है !!

PARAM ARYA said...

बेटे,ले दे के तो एक सन्डे मिले है उसे भी तेरे मौलाना जी को अर्पित कर दें , हमें मुल्ला बनना होगा तो कलमा यहीं किसी न पढ़ लेंगे ?

Dr. Ayaz ahmad said...

वाकई मौलाना की बात अलग ही है

Dr. Ayaz ahmad said...
This comment has been removed by the author.
Anonymous said...

अबे हमे मौलानाओ के चक्कर मे फसाना चाहता है हम जानते है ये मौलाना लोग जादूगर होते है हम तुझे तांत्रिक के पास भेजेगेँ क्या वहाँ चला जाएगा

Shah Nawaz said...

Badhiya Lekh Anwar bhai. Desh ko aise Maulana Vahiduddin jaise lekhkon ki zarurat hai.

Mohammed Umar Kairanvi said...

शाहनवाज भाई गुरू जमाल जैसे ब्‍लागरस की भी देश को बहुत जरूरत है

man said...

मोलाना वहीदुद्दीन ,जैसे नक् विचारो जेसे गुरुवो शिक्षा से ही लोगो में सही चेतना आ सकती हे

Dr. Ayaz ahmad said...

ब्लागवाणी ये है तेरी कारस्तानी । छः वोट और दस कमेँट के बाद भी अनवर साहब की पोस्ट HOT मे नही जबकि किसी जाली राष्ट्रवादी की मुसलमानो के ख़िलाफ़ कोई पोस्ट होती तो वह सिर्फ दो वोट और कुछ कमेँट के साथ ही hot मे दे देते हो।

Tarkeshwar Giri said...

Agar koi accha insan samaj main faily fui burai ko door karne ke liye aage aata hai to hame uska sath dena chahiye, chahe wo kisi bhi dharm se rishta kyon na rakhta ho.

kyonki mera khud ka manna hai ki dharm chahe koi bhi ho rashta ek hi hai.

sahespuriya said...

GOOD

Arshad Ali said...

achchhi jankari

Dr. Ayaz ahmad said...

@अनवर साहब मैं कल मौलाना के यहाँ दिल्ली आ रहा हूँ आप से भी गुज़ारिश है कि आप भी तशरीफ़ लाए @man जी , गिरी जी आप लोग अगर दिल्ली मे है तो आप लोगो से भी गुज़ारिश है कि मौलाना के यहाँ तशरीफ़ लाए। क्योकि हर अच्छे काम मे आप जैसे लोगो को आगे आना चाहिए

nitin tyagi said...

This also good plateform to know about great islam ->

http://quranved.blogspot.com/

सलीम ख़ान said...

I know him very well

DR. ANWER JAMAL said...

@ Dr. Ayaz ! अगर गिरी जी चलने के लिए तैयार हों तो मैं भी हाज़िर हूँ. भाई शाहनवाज़ को भी बुलाओ.