सनातन धर्म के अध्‍ययन हेतु वेद-- कुरआन पर अ‍ाधारित famous-book-ab-bhi-na-jage-to

जिस पुस्‍तक ने उर्दू जगत में तहलका मचा दिया और लाखों भारतीय मुसलमानों को अपने हिन्‍दू भाईयों एवं सनातन धर्म के प्रति अपने द़ष्टिकोण को बदलने पर मजबूर कर दिया था उसका यह हिन्‍दी रूपान्‍तर है, महान सन्‍त एवं आचार्य मौलाना शम्‍स नवेद उस्‍मानी के ध‍ार्मिक तुलनात्‍मक अध्‍ययन पर आधारति पुस्‍तक के लेखक हैं, धार्मिक तुलनात्‍मक अध्‍ययन के जाने माने लेखक और स्वर्गीय सन्‍त के प्रिय शिष्‍य एस. अब्‍दुल्लाह तारिक, स्वर्गीय मौलाना ही के एक शिष्‍य जावेद अन्‍जुम (प्रवक्‍ता अर्थ शास्त्र) के हाथों पुस्तक के अनुवाद द्वारा यह संभव हो सका है कि अनुवाद में मूल पुस्‍तक के असल भाव का प्रतिबिम्‍ब उतर आए इस्लाम की ज्‍योति में मूल सनातन धर्म के भीतर झांकने का सार्थक प्रयास हिन्‍दी प्रेमियों के लिए प्रस्‍तुत है, More More More



Saturday, July 3, 2010

Thankfullness परमेश्वर कहता है कि - अगर तुम शुक्रगुज़ार हुए तो हम ज़्यादा देंगे। ( Anwer Jamal )

परमेश्वर का नियम है कि -

बेशक मुश्किल के साथ आसानी है। -अलकुरआन

और परमेश्वर यह भी कहता है कि -
अगर तुम शुक्रगुज़ार हुए तो हम ज़्यादा देंगे। -अलकुरआन
..............................................................................................
अल्लाह का शुक्र है कि ‘अनम‘ का बुख़ार भी जाता रहा और वह दूध भी पीने लगी है। शहर के मशहूर चाइल्ड स्पेशलिस्ट ऐलोपैथ डा. एम. अंसारी को जब पैदाइश के बाद दिखाया गया तो उन्होंने तुरंत हाथ खड़े कर दिये। एक सच्चे होम्योपैथ डा. प्रभात कुमार अग्रवाल के ट्रीटमेंट से अनम का जख्म लगातार हील होता जा रहा है। होम्योपैथी नॉनसेंस नहीं है अलबत्ता इसे समझने के लिये हायर सेंस चाहिये।
प्रिय प्रवीण जी की आमद और भाई तारकेश्वर गिरी जी की वापसी मेरे लिये खुशी और राहत का बायस है। जनाब सतीश सक्सेना जी और जनाब उमर कैरानवी के जज़्बात से बेहद मुतास्सिर हूं। लगता है कि इन्सानियत अभी ज़िन्दा है।
दीगर भाइयों के नेक ख़यालात ने मेरा हौसला बढ़ाया है।
सभी लोग मेरे लिये खुदा की बेहतरीन नेमत हैं जिसपर मैं मालिक का शुक्रगुज़ार हूं। मालिक हम सबको सतपथ का राही बनाए और मंज़िल तक पहुंचाये । ‘आमीन‘

16 comments:

Aslam Qasmi said...

meri sanubhooti aap ke sath he aor duaaen bachi ke sath

kamal said...

meri duaaen aap ke sath hen

kamal said...

meri duaaen aap ke sath hen

bharat bhaarti said...

ham bhi duaa karta hun

HAKEEM YUNUS KHAN said...

स्तन कैंसर से बचाव के लिए जैतून का तेल ....
बहु उपयोगी है जैतून (ओलिव आयल )का तेल .एक तरफ यह उन जींस समूह को "तर्न्स- डाउन "यानी स्विच ऑफ़ कर देता है जिनका सम्बन्ध धमनियों को खुरदरा बनाने (हार्डनिंग ऑफ़ आर्तारीज़ ),हृद रोगों से जोड़ा गया है दूसरी तरफ इसका दीर्घावधि स्तेमाल ब्रेस्ट कैंसर से भी बचाए रख सकता है ।
पूर्व के कई अध्धय्यनों से भी ऐसी ही ध्वनी बारहा आई है ,जैतूनी -तेल से तैयार की गई 'मेदितारेनियन डाईट'कैंसर ,हृद -रोग यहाँ तक के अल्जाइ -मर्ज़ से भी अपेक्षा कृत बचाए रहती है ।
आइये हालिया दो स्पेनी अध्धय्यनों का लब्बोलुआब समझें ।
चूहों पर की गई आज़माइश से पता चला है ,जैतून के तेल में एंटी -ओक्सिदेतिव -पदार्थों का बाहुल्य उन खास प्रोटीनों को स्विच ऑफ़ कर देता है जो कैंसर कोशिकाओं को पनपाने ,फीड करते रहने ,ज़िंदा रखने के लिए ज़रूरी हैं ।
यह डी एन ए की नुकसानी (डी एन ए डेमेज )को भी मुल्तवी रखता है .जो कैंसर की वजह बन जाता है .जैतूनी तेल ट्यूमर पर चौतरफा हमला बोलता है .बढवारको थाम लेता है ,कैंसर ग्रस्त कोशाओं को इम्प्लोड़करवा (ट्यूमर के अंदर की ओरविस्फोट करवाकर )डी एन ए डेमेज को रोक देता है .युनिवार्सितात औतोनोमा दे बार्सेलोना ,स्पेन के साइंस दानों के मुताबिक़ उस जीन की योजना को खटाई में डलवा देता ,अड़चन पेश करता है जो ट्यूमर बढवार (ब्रेस्ट - ट्यूमर की )के लिए बनाई जाती है ।
इस अध्धय्यन के नतीजे जर्नल कारसी -नो -जिनेसिस में प्रकाशित हुए हैं .नियमित अ -उर दीर्घावधि एक्स्ट्रा वर्जिन आयल (ओलिव ग्रीन ,ओलिव ब्लेक )का सेवन अ -उर भी ज्यादा असरकारी सिद्ध होता है ।
सन्दर्भ -सामिग्री :-ओलिव आयल हेल्प्स कीप ब्रेस्ट कैंसर अत बे ,सेज स्टडी (दी टाइम्स ऑफ़ इंडिया ,जुलाई ३ ,२०१० )
http://veerubhai1947.blogspot.com/2010/07/blog-post_243.html?showComment=1278172438156#c7818232821672095881

सतीश सक्सेना said...

शुक्र है भगवान् का ! अब यह ठीक हो जायेगी,बहुत खूबसूरत है आखिर अपने बाप पर गयी( हूबहू अनवर जमाल ) है

HAKEEM YUNUS KHAN said...

maine bhi dekha hai Anam ko . Satish ji sahi keh rahe hain .

सहसपुरिया said...

अल्लाह का शुक्र है ये खुशख़बरी सुनने को मिली. इंशाल्लाह बहुत जल्द अनम सेहत याब हो जाएगी(आमीन) कोई भी खिदमत मुझ जैसे बेकार के लायक़ हो तो हुक्म कीजिएगा, जैसे भी टूटे फूटे हैं इक आवाज़ पर चले आएँगे.

सहसपुरिया said...

बेशक मुश्किल के साथ आसानी है। -अलकुरआन

सहसपुरिया said...

अगर तुम शुक्रगुज़ार हुए तो हम ज़्यादा देंगे। -अलकुरआन

Dr. Ayaz ahmad said...

अनम के लिए इतने सारे लोग दुआ कर रहे है अल्लाह अनम को जल्द ठीक कर देगा इंशाल्लाह

Voice Of The People said...

Allah ka shukr hai..

zeashan zaidi said...

बेशक मुश्किल के साथ आसानी है।

Sharif Khan said...

http://haqnama.blogspot.com/
इंशा अल्लाह बड़े होने पर बेबी अनम, उसे मिली हुई अल्लाह कि इस नेमत पर, फख्र किया करेगी कि पैदा होते ही उसको अनवर जमाल जैसे शफ़ीक़ बाप और ममतामई माँ की निगेह्दाश्त हासिल हुई और दुनिया भर से लोगों कि दुआएं मिलीं. अल्लाह उसको जल्द शिफ़ायाब फरमाए. आमीन!

झंडागाडू said...

इस्लाम हर इन्सान की जरूरत है, किसी आदमी को इस्लाम दुश्मनी में सख्त देखकर यह न सोचना चाहिये कि उसके muslim होने की उम्मीद नहीं।-पूर्व बजरंग दल कार्यकर्त्ता अशोक कुमार

MLA said...

बेशक मुश्किल के साथ आसानी है